बिहार बोर्ड ने इंटर में बढ़ाई सीटें, 11वीं कक्षा में 17 लाख से ज्यादा छात्रों का होगा प्रवेश

बिहार बोर्ड ने नए सत्र के लिए इंटर की सीटों की घोषणा कर दी है. इस बार पिछले सत्र से 48 हजार और सीटें बढ़ाई गई हैं। पिछले सत्र में जहां राज्य के इंटर कॉलेजों में 17 लाख 2 हजार सीटें थीं, इस बार इसे बढ़ाकर 17 लाख 50 हजार कर दिया गया है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रवेश की प्रक्रिया भी बहुत जल्द शुरू की जाएगी।

इस बार आवेदन ऑनलाइन माध्यम से लिया जाएगा और इसी के आधार पर छात्रों को शॉर्टलिस्ट कर प्रवेश लिया जाएगा। इस बार बिहार बोर्ड से मैट्रिक पास करने वालों के अलावा सीबीएसई, आईसीएसई और अन्य राज्य बोर्डों के छात्रों को भी प्रवेश का मौका मिलेगा, बिहार बोर्ड के मुताबिक इस बार मैट्रिक में 12 लाख 86 हजार 871 छात्र पास हुए हैं।

ओएफएसएस पोर्टल से जुड़े नए स्कूल

इस बार अपग्रेडेड स्कूलों में भी 11वीं कक्षा में प्रवेश लिया जाएगा। इसके लिए सभी स्कूलों को OFSS पोर्टल से जोड़ा गया है। अपग्रेडेड स्कूलों में शिक्षा शुरू होने से प्लस टू स्कूलों की संख्या भी बढ़ेगी। 2021 में 3664 प्लस टू स्कूलों में 11वीं कक्षा में प्रवेश लिया गया था। इस बार करीब 3800 स्कूल-कॉलेजों में नामांकन होगा। इस बार आवेदन ऑनलाइन माध्यम से लिया जाएगा और इसके आधार पर छात्रों को शॉर्टलिस्ट कर प्रवेश लिया जाएगा। इस बार बिहार बोर्ड से मैट्रिक पास करने वालों के अलावा सीबीएसई, सीआईसीई और अन्य राज्य बोर्डों के छात्रों को भी प्रवेश का मौका मिलेगा।

ofss 11 admission seat

मैट्रिक कक्षा 2022 में कुल 4,24,597 छात्र प्रथम श्रेणी में, 5,10,411 द्वितीय श्रेणी में और 3,47,637 छात्र तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। इनमें उत्तीर्ण छात्रों की संख्या 6,78,110 और छात्राओं की संख्या 6,08,861 है। 11वीं की 17 लाख सीटों में से 14 लाख 61 हजार 771 सीटों पर सिर्फ कोएड स्कूल-कॉलेज शामिल हैं. बालक महाविद्यालय-विद्यालय में मात्र 15213 सीटें हैं।

बिहार बोर्ड 11वीं कक्षा की कॉलेजों में बढ़ी 48000 सीटें

नए सत्र से 11वीं कक्षा के छात्रों का नामांकन अपग्रेडेड स्कूलों में लिया जाएगा। इसके लिए सभी स्कूलों को स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन फैसिलिटेशन सिस्टम यानी ओओपीएफएस से जोड़ा गया है। अपडेटेड स्कूलों में पढ़ाई शुरू होने से प्लस टू स्कूलों की संख्या में इजाफा होगा। पिछले साल जहां 3664 प्लस टू स्कूल-कॉलेजों में 11वीं कक्षा में प्रवेश लिया गया था। इस साल यह बढ़कर करीब 3800 स्कूल और कॉलेज हो जाएगा। बता दें कि 6,78,110 छात्रों को मैट्रिक एग्जाम में सफलता मिली है, वहीं 6,08,861 छात्राएं पास हुए हैं।

17 लाख से अधिक सीटों पर होगा एडमिशन

बता दें की, बिहार बोर्ड मैट्रिक 2022 में कुल 4,24,597 छात्र प्रथम श्रेणी में, 5,10,411 द्वितीय श्रेणी में और 3,47,637 छात्र तृतीय श्रेणी में उत्तीर्ण हुए हैं। इनमें उत्तीर्ण छात्रों की संख्या 6,78,110 और छात्राओं की संख्या 6,08,861 है। 11वीं की 17 लाख सीटों में से 14 लाख 61 हजार 771 सीटों पर सिर्फ कोएड स्कूल-कॉलेज शामिल हैं. बालक महाविद्यालय-विद्यालय में मात्र 15213 सीटें हैं। इस तरह र 11वीं में फैकल्टी का चयन करना आसान होगा क्योंकि कला, वाणिज्य और विज्ञान संकायों में सीटें बढ़ा दी गई हैं।

इंटर में नामांकन के लिए कितनी फीस लगेगी?

आवेदन करने के लिए छात्रों को ₹350 की राशि जमा करनी होगी। जिसमें ₹150 आवेदन शुल्क और ₹200 कॉलेज या स्कूल की फीस शामिल है। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि छात्र विभिन्न माध्यमों जैसे एसबीआई में नकद (ई-चालान के माध्यम से), या किसी भी बैंक के नेट बैंकिंग, या डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड के माध्यम से शुल्क का भुगतान कर सकते हैं।

Leave a Comment